sovereign-gold-bond-scheme

सस्ता सोना खरीदने का बढ़िया मौका ! आज से खुल रही है Sovereign Gold Bond Scheme

मुख्य समाचार, व्यापार

Updated: 12 जुलाई, 2021,

नई दिल्ली: SGB Scheme Opens Today : सोने में निवेश करना चाहते हैं तो आपके पास बाजार की कीमतों से सस्ते दामों पर सोना खरीदने का मौका है. सरकारी गोल्ड बॉन्ड स्कीम की चौथी सीरीज आज से शुरू हो रही है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम (Sovereign Gold Bond Scheme 2021-22) की चौथी सीरीज में निवेश करने के लिए आपके पास अगले चार दिन है. भारतीय रिजर्व बैंक ने बताया है कि यह स्कीम आज से यानी 12 जुलाई, 2021 से शुरू होकर 16 जुलाई, 2021 तक निवेश के लिए खुली रहेगी.

इस दौरान निवेशक सस्ते दामों पर सोने का बॉन्ड खरीद सकेंगे. वहीं खरीद के लिए डिजिटल पेमेंट करने वालों को कुछ छूट भी दी जाएगी.

क्या होगा इशू प्राइस

गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 के लिये इशू प्राइस 4,807 रुपये प्रति ग्राम रखा गया है. आरबीआई के अनुसार, ‘गोल्ड बॉन्ड का मूल्य 4,807 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है.’ यानी कि अगर आपने 10 ग्राम सोना खरीदा तो आप 48,070 रुपये में खरीद पाएंगे. लेकिन अगर आपने डिजिटल पेमेंट किया तो आपको 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट मिलेगी. आरबीआ ने बताया है कि भारत सरकार के परामर्श से वो ऑनलाइन आवेदन और डिजिटल तरीके से भुगतान करने वाले निवशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट देगा.

आरबीआई के अनुसार, ‘ऐसे निवेशकों के लिये निर्गम मूल्य 4,757 रुपये प्रति ग्राम सोना होगा.’ यानी कि ऐसे निवेशक अगर 10 ग्राम सोना खरीदते हैं, तो उन्हें 500 रुपये की छूट मिलेगी और वो सोना 47,570 रुपये के रेट पर खरीद पाएंगे.

कितना मिलेगा ब्याज

गोल्ड बॉन्ड को बहुत से निवेशक तरजीह देते हैं क्योंकि इसमें निवेशक को कई फायदे होते हैं. पहला कि वो बाजार के मुकाबले सस्ता सोना खरीदता है. दूसरा सोने के दाम बाजार में बढ़ते हैं तो उसके निवेश की कीमत भी बढ़ जाती है और सबसे बड़ी बात उसे उसके निवेश पर हर 6 महीने में ब्याज मिलता है. गोल्ड बॉन्ड स्कीम पर निवेशकों को सालाना 2.5 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है.

निवेश को लेकर जरूरी बात

गोल्ड बॉन्ड में किसी भी निवेशक को न्यूनतम एक ग्राम सोने में निवेश करना ही होता है. जान लें कि गोल्ड बॉन्ड स्कीम में आपके निवेश का मैच्योरिटी पीरियड 8 साल तक का होता है, लेकिन आप 5 साल बाद भी इसे बंद कर सकते हैं, बस आपको 5 साल बाद

कहां से खरीद सकेंगे

बॉन्ड, बैंकों (छोटे वित्त बैंकों और भुगतान बैंकों को छोड़कर), स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SHCIL), मनोनीत डाकघरों और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड और बीएसई जैसे मान्यता प्राप्त शेयर बाजारों के माध्यम से बेचे जाएंगे.

जानकारी के लिए…

बता दें कि तीसरी सीरीज के गोल्ड बॉन्ड का इशू प्राइस 4,889 रुपये प्रति ग्राम था. यह खरीद के लिए 31 मई से चार जून, 2021 तक खुला था. इससे पहले, सरकार ने घोषणा की थी कि वह मई 2021 से सितंबर 2021 तक छह चरणों में सरकारी गोल्ड बॉन्ड जारी करेगी. आरबीआई भारत सरकार की ओर से बॉन्ड जारी करता है. वर्ष 2015 में शुरू स्वर्ण बांड एसजीबी योजना से मार्च 2021 के अंत तक कुल 25,702 करोड़ रुपये जुटाए गए हैं. रिजर्व बैंक ने 2020-21 के दौरान 16,049 करोड़ रुपये (32.35 टन) की कुल राशि के एसजीबी की 12 श्रृंखला जारी किये थे.

Leave a Reply