lic-ipo

LIC IPO: आम जनता के लिए खुल गया LIC का ऐतिहासिक आईपीओ , जानें हर डिटेल

मुख्य समाचार, व्यापार

Updated: 4 मई, 2022 ,

मुंबई: LIC IPO Opens Today : प्रमुख सरकारी कंपनी जीवन बीमा निगम (Life Insurance of India) का पब्लिक इशू या IPO (Initial Public Offering या आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) आखिरकार आज सब्सक्रिप्शन के लिए खुल गया है. LIC की शुरुआत 1956 में हुई थी. तब इसे 245 निजी लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों का विलय और निजीकरण करके बनाया गया था. उस वक्त कंपनी ने 5 करोड़ के प्रारंभिक पूंजी पर काम शुरू किया था. बीमा कंपनी के आईपीओ को एंकर निवेशकों से अच्छी प्रतिक्रिया मिली है. आज यह आईपीओ संस्थागत और खुदरा यानी रिटेल निवेशकों के सब्सक्रिप्शन के लिए खुला है. बता दें कि लगभग 21,000 करोड़ के वैल्यू का यह अबतक का देश का सबसे बड़ा आईपीओ है. सरकार एलआईसी में अपने 3.5 फीसदी शेयरों की बिक्री आईपीओ के जरिये कर रही है, इससे 20,557 करोड़ रुपये जुटाए जाने की उम्मीद है. यह ऐतिहासिक आईपीओ आज यानी खुदरा व संस्थागत निवेशकों के लिए खुला है, अब इसका सब्सक्रिप्शन 9 मई को बंद होगा.

खास बातें

 

  • एलआईसी के आईपीओ का प्राइस बैंड 902-949 रुपये तय किया गया है. हर लॉट में 15 शेयर होंगे, वहीं न्यूनतम निवेश राशि 14,235 होगी. न्यूनतम एक लॉट में निवेश किया जा सकता है. किसी भी आम निवेशकों को कम से कम 15 शेयर आईपीओ में खरीदने पड़ेंगे.
  • IPO सब्सक्रिप्शन के लिए खुदरा निवेशक ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं. खुदरा निवेशकों और पात्र कर्मचारियों को प्रति शेयर 45 रुपये की छूट मिलेगी, जबकि एलआईसी के पॉलिसीधारक 60 रुपये प्रति शेयर की छूट पा सकेंगे.
  • ग्रे प्रीमियम मार्केट में बुधवार को एलआईसी का आईपीओ लगभग 9 फीसदी की ऊछाल के साथ ट्रेड कर रहा था.
  • निवेशक 9 मई तक जब चाहे तब सब्सक्राइब कर सकते हैं. अलॉटमेंट 9 मई के बाद ही होगा. फिर देखना होगा कि अपने प्राइस बैंड के मुकाबले कंपनी के शेयर किस रेट पर बाजार में लिस्ट होते हैं.
  • इच्छुक निवेश इसमें साधारण ऑनलाइन तरीके से निवेश कर सकते हैं. आपके पास एलआईसी के रिकॉर्ड में पैन डिटेल्स अपडेटेड होनी चाहिए और किसी ट्रेडिंग ऐप पर डीमैट अकाउंट होना चाहिए. आप किसी भी ट्रेडिंग ऐप के जरिये ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए आपको सिर्फ बैंक अकाउंट के केवाईसी की जरूरत होगी. किसी भी ऑनलाइन ट्रेडिंग ऐप के जरिये केवाईसी कुछ देर में हो जाएगी. इसमें कोई फीस वगैरह भी नहीं लगेगी.
  • बता दें कि इस आईपीओ में मौजूदा पॉलिसीधारकों एवं एलआईसी के कर्मचारियों के लिए कुछ शेयर आरक्षित रखे गए हैं. आईपीओ के तहत 15,81,249 शेयर कर्मचारियों के लिए और 2,21,37,492 शेयर पॉलिसीधारकों के लिए आरक्षित हैं. पात्र संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) के लिए 9.88 करोड़ से अधिक शेयर और गैर-संस्थागत खरीदारों के लिए 2.96 करोड़ से अधिक शेयर आरक्षित हैं.
  • एलआईसी इस निर्गम के दौरान बिक्री के लिए 22.13 करोड़ इक्विटी शेयरों की पेशकश कर रही है. पिछले हफ्ते एलआईसी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी गई जानकारी के मुताबिक, 9 मई को सब्सक्रिप्शन बंद होने के बाद कंपनी के शेयर 17 मई को शेयर बाजार में लिस्ट किए जाएंगे.
  • उधर, कंपनी का कहना है कि उसे एंकर निवेशकों की ओर से ‘जबरदस्त प्रतिक्रिया’ मिली है. एलआईसी ने मंगलवार को बताया कि उसने अपने आईपीओ से पहले घरेलू संस्थानों की अगुवाई में एंकर निवेशकों से 5,627 करोड़ रुपये से अधिक जुटाए हैं. पेश किए गए 22.13 करोड़ शेयरों में 5.93 करोड़ शेयर एंकर निवेशकों के लिए आरक्षित थे.
  • बीमा कंपनी ने शेयर बाजारों को बताया कि एंकर निवेशकों (एआई) के हिस्से (5,92,96,853 इक्विटी शेयर) को 949 रुपये प्रति इक्विटी शेयर पर पूरा अभिदान मिला. शेयर बाजार को दी जानकारी के मुताबिक एआई को लगभग 5.9 करोड़ शेयरों के आवंटन में से 4.2 करोड़ शेयर (71.12 प्रतिशत) 15 घरेलू म्यूचुअल फंडों को आवंटित किए गए थे. ये आवंटन कुल 99 योजनाओं के माध्यम से किया गया.
  • इसके अलावा कुछ घरेलू बीमा कंपनियों और पेंशन फंडों द्वारा निवेश किया गया था. निवेश करने वाले घरेलू संस्थानों में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस, कोटक महिंद्रा लाइफ इंश्योरेंस, पीएनबी मेटलाइफ इंश्योरेंस, एसबीआई पेंशन फंड और यूटीआई रिटायरमेंट सॉल्यूशंस पेंशन फंड स्कीम शामिल हैं. विदेशी भागीदारों में सिंगापुर सरकार, सिंगापुर मौद्रिक प्राधिकरण, गवर्नमेंट पेंशन फंड ग्लोबल और बीएनपी इनवेस्टमेंट एलएलपी शामिल हैं.

 

Leave a Reply