rich-people-of-world-attract-to-settle-in-dubai

कोरोना काल में दुबई को अपना ठिकाना क्यों बना रहे रईस?

अंतर्राष्‍ट्रीय, मुख्य समाचार, व्यापार
Updated: May 16, 2021,

दुबई: कोरोना (Corona) संकट के बीच दुनिया के अमीरों के बीच एक नया ट्रेंड नजर आ रहा है. ये लोग दुबई (Dubai) में लग्‍जरी घर (Luxury House) खरीदने में जुटे हुए हैं. इन लोगों में भारत समेत कमोबेश हर देश के अमीर शामिल हैं. लंदन के क्रिस्‍टोफर रीच की ही बात करें तो वे 3 दशकों से यहां रह रहे थे लेकिन महामारी से तंग आकर उन्‍होंने अपना लग्‍जरी टाउनहाउस बेच दिया और अपने परिवार के साथ नई जिंदगी शुरू करने के लिए दुबई पहुंच गए. उनके फ्रांसीसी बिजनेसमैन दोस्‍तों ने भी ऐसा ही किया है. अमीरों के इस नए शौक ने दुबई में प्रॉपर्टी की कीमतें बढ़ा दी हैं.

कोरोना काल में भी जमकर हो रहा कारोबार 

कोरोना के कारण जहां कई देशों में लॉकडाउन और कर्फ्यू लगा हुआ है, वहीं दुबई में  कारोबार जारी है. इसके अलावा यहां वैक्‍सीन की उपलब्‍धता भी सहज है, जबकि भारत की ही बात करें तो यहां टीकाकरण की रफ्तार खासी कम है. दुबई में 3 वैक्‍सीन उपलब्‍ध हैं और अमीरों को लुभाने के लिए संयुक्‍त अरब अमीरात ने वर्क वीजा, रिटायरमेंट वीजा और लॉन्‍ग टर्म वीजा वालों का भी टीकाकरण करने की अनुमति दे दी है. जबकि दुबई में टीकाकरण कराने के लिए रेजिडेंट वीजा जरूरी होता है. यही वो चीजें हैं, जो अमीरों को आकर्षित कर रही हैं. लिहाजा यहां अमीर न केवल रहने के लिए लग्‍जरी विला और पेंटहाउस खरीद रहे हैं, बल्कि बड़े पैमाने पर निवेश भी कर रहे हैं. कई प्रॉपर्टी कारोबारियों ने यहां करोड़ों रुपये निवेश करके किफायती दरों पर घर खरीदे हैं, जिन्‍हें वे बाद में बढ़ी हुई कीमतों पर बेच देंगे.

प्रॉपर्टी कारोबार में 230% की बढ़ोतरी  

कुछ समय पहले तक दुबई की अपस्केल संपत्तियों (Property) की बिक्री धीमी चल रही थी, उसमें कुछ ही समय में जबरदस्‍त तेजी आई है. 2021 की पहली तिमाही में पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में प्रॉपर्टी कारोबार में 230% की बढ़ोतरी हुई है. देश की सबसे बड़ी रीयल-एस्टेट वेबसाइट प्रॉपर्टी फाइंडर के अनुसार कुछ बेहद पॉश क्षेत्रों में तो कीमतें 40% तक बढ़ गईं हैं. वहीं रियल एस्टेट कंसल्टेंसी प्रॉपर्टी मॉनिटर के अनुसार, पिछले महीने रिकॉर्ड-तोड़ तरीके से 10 मिलियन दिरहम (2.7 मिलियन डॉलर) की कीमत वाली 90 प्रॉपर्टी बिकीं. जबकि पूरे 2020 में इतनी कीमत की केवल 54 प्रॉपर्टी ही बिकी थीं.

दुबई के कृत्रिम द्वीपसमूह पाम जुमेराह (Palm Jumeirah) पर पेंटहाउस की बिक्री का मैनेजमेंट करने वाली कंसल्टेंसी नाइट फ्रैंक के पार्टनर मैथ्यू कुक कहते हैं, ‘बहुत से लोग यहां आ रहे हैं और कई मिलियन डॉलर की संपत्ति खरीद रहे हैं.’ चूंकि यह घर नकद रुपयों में खरीदे जा रहे हैं, लिहाजा कीमतें कम करने के लिए सौदेबाजी भी जमकर हो रही है.

7 सालों से घट रहीं कीमतें 

हालांकि बेजा निर्माण के कारण पिछले 7 सालों से दुबई में प्रॉपर्टी की कीमतों में गिरावट आ रही है. यही वजह है 2013 में दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा (Burj Khalifa) में जहां घर खरीदने के लिए औसत कीमतें 1,300 डॉलर प्रति वर्ग फुट थीं, वे इस महीने 400 डॉलर पर पहुंच गईं.

Leave a Reply